Ye zindagi hai janab

“ये जिंदगी है जनाब कई रंग दिखायगी कभी रुलाएगी कभी हंसाएगी जो ख़ामोशी से सह गया वो निखार जाएगा जो भावनाओं में बह गया वो बिखर जाएगा।” – शुभ प्रभात