Category: Wafa Shayari


Kisee aur ki baahon mein rehkar

Kisee aur ki baahon mein rehkar

किसी और के बाहों में रहकर, वो हम से वफा की बात करते हैं… ये कैसी चाहत हे यारों…? वो बेवफा हे जानकर भी हम उन्हीं से ही प्यार करते हैं…. Kisee aur ki baahon …
Dekh ke teree aankhon mein

Dekh ke teree aankhon mein

देख के तेरी आँखों में , पल पल जिया हु में। तुझे देख किसी के बाहों मे, हर पल मरा हु मैं। साथ तेरा जब तक था, जिंदगी से वफ़ा मैं करता था। अब साथ …