Nahi pata kaun hu

नही पता कौन हूँ मैं और कहा मुझे जाना हैं,
महादेव ही मेरी मँजिल हैं और महाकाल का दर ही मेरा ठिकाना हैं।