Mana ki tere dar par

Mana ki tere dar par, , sad shayari with picture lovesove

“माना की तेरे दर पे हम खुद चल कर आये थे ऐ इश्क दर्द,दर्द और बस दर्द
ये कहाँ की मेहमान नवाजी है”