Machis toh yuh

माचिस तो यूं ही बदनाम है,हमारे तेवर तो आज भी आग लगाते है.राजपूत