Dekhega sehar

देखेंगा शहर अब आंखें फाड़के, जब निकलेंगे छोरे भगवा बांध के,
हम भी जाएंगे सब को लेकर, जहां भक्त लगायेंगे जयकरे राम के।🚩