Shobha tere roop

शोभा तेरे रूप की बाबा, देख नाचे मन की मोर,
इत देखू, उत देखू, देखू चारों ओर, तेरे जैसा बाबा ना कोई और।
।। जय श्री श्याम।।