✨चाँद भी बड़ा नटखट हैं,✨ ✨जो छुपाता हैं तारो को,✨

✨चाँद भी बड़ा नटखट हैं,✨
✨जो छुपाता हैं तारो को,✨
✨और हमारी गहरी नींदो✨
✨मे सजाता हैं सपनो को,✨
< <<शुभ रात्रि>>>