वक़्त ने सिख दी हमे

वक़्त ने सिख दी हमे होशियारी वरना हम भी मासूमियत की हद तक मासूम थे