रुकावटे तो ज़िन्दा इन्सान के

रुकावटे तो ज़िन्दा इन्सान के लिए हैं…..मय्यत के लिए तो सब रास्ता छोड़ देते है