Mai yog nindra

मैं योग निद्रां में शम्भु हूँ,
निद्रां के बहार शंकर और जाग गया तो रुद्र हूँ।