Kahi Fisal Na Jao Zara Sambhal Ke

Kahi Fisal Na Jao Zara Sambhal Ke, , barish shayari facebook instagram lovesove

कहीं फिसल न जाओ जरा संभल के चलना
मौसम बारिस का भी है और मोहब्बत का भी