Jinda saans aur

जिन्दा साँस और मुरदा राखचिलम मे गाँजा दूध मे भाँग,
देव भी सोचे बार बार दम लगाये हजार बार ऐसे है महाकाल।