Jaha par aakar

जहाँ पर आकर लोगों की नवाबी खत्म होती हैं,
वही से महाकाल के भक्तों की बादशाही शुरू होती हैं।