Woh Josh-e-tanhaiye

Woh Josh-e-tanhaiye, , alone shayari image download lovesove

वो जोश-ए-तन्हाई शब-ए-ग़म, वो हर तरफ बेकसी का आलम, कटी है आँखों में
रात सारी, तड़प तड़प कर सहर हुयी।