Tag: shero-shayri


Palak Tu Band Ho Jaa

ए पलक तू बंद हो जा, कम से कम उनकी सूरत तो नजर आएगी, दिन तो ऐसे ही निकल जाता है, कम से कम रात तो सुकून से गुजर जाएगी! Good Night
Wo mohabbat bhi uski thi

Wo mohabbat bhi uski thi

वो मुहब्बत भी उसकी थी वो नफरत भी उसकी थी, वो अपनाने और ठुकराने की अदा भी उसकी थी, मैं अपनी वफा का इन्साफ किस से मांगता, वो शहर भी उसका था वो अदालत भी …