Tag: shayari-on-ishq


Ab Har Koie Hume Apka Ashiq

अब हर कोई हमें, आपका आशिक कह के बुलाता है, इश्क नहीं न सही, मुझे मेरा वजूद तो वापिस कीजिए!!

Dhadkane Meri Bechain Rahte Hai

धड़कने मेरी बेचैन रहती है आजकल, क्योंकि तेरे बगैर यह धड़कती कम और तड़पती ज्यादा है