Saturday, April 4, 2020

Mujhe itni fursat kaha

मुझे इतनी “फुर्सत” कहाँ कि मैं तकदीर का लिखा देखुँ, बस अपनी माँ-पिता की ”मुस्कुराहट” देख कर समझ जाता हुँ की “मेरी...

Read more

Jin murtiyo ko insaan

जिन मूर्तियों को इंसान बनाते हैं, हम उनकी तो पूजा करते हैं, पर जिन्होंने हमें बनाया है हम उन माता-पिता की पूजा...

Read more

Pata nahi kese

पता नहीं कैसे पत्थर की मूर्ति के लिए जगह बना लेते हैं घर मैं वो लोग, जिनके घर में माता-पिता के लिए...

Read more

Jis din tumare

जिस दिन तुम्हारे कारण माँ बाप की आँखों में आँसू आते हैं, याद रखना उस दिन तुम्हारा किया सारा धर्म कर्म आँसुओ...

Read more
Page 1 of 6 1 2 6