Insan bhi ajeeb hai jab rishte se dil bhar jata hai

Insan bhi ajeeb hai jab rishte se dil bhar jata hai, , insan bhi ajeeb hai rishte shayari lovesove

इंसान भी अजीब है, जब रिश्तों से दिल भर जाता है, तब वो सब बातें और इल्ज़ाम इकटठे करना शुरू कर देता है।