Bhatak bhatak ke yeh

भटक भटक के ये जग हारा,
संकट में दिया ना कोई साथ।
सुलझ गई हर एक समस्या,
महाकाल ने जब पकड़ा हाथ।