Bacche mere ungli thame

Bacche mere ungli thame, , fathers shyari with pictures lovesove

बच्चे मेरी उँगली थामे धीरे धीरे चलते थे फिर वो आगे दौड़ गए मैं
तन्हा पीछे छूट गया