त्याग दी सब ख्वाहिशें,कुछ अलग करने के लिए

त्याग दी सब ख्वाहिशें,कुछ अलग करने के लिए,
‘राम’ ने खोया बहुत कुछ,‘श्री राम’ बनने के लिए !!