जो हमसे दोस्ती करते हैं

जो हमसे “दोस्ती” करते हैं,
वो ज़िंदगी भर “मस्ती” में रहते हैं,,