अपनी शख्शियत भी सर्दियों जैसी

अपनी शख्शियत भी सर्दियों जैसी है …लोग गरम कम ठिठुरते ज्यादा है हमे देखक