अनपढ़ मेरे गाँव का गाय चराने जाये

अनपढ़ मेरे गाँव का गाय चराने जाये,
पढ़ा-लिखा तू शहर का कुत्तों को टहलाय।