Ads

Advertisement

More Cards:

Birthday Cards

Love Cards

Friendship Cards

Hello-Hi

Good Morning

Good Night

Nice Day

Miss You

Smile

Shayari Special

Namaste

Mohabbat

Recent Posts:

1 2 3 4 5 6 7 8 9 ... 2069 »
Bewafa Se Dil Lagane Chale

alone-boy-glass-lovesove

Bewafa Se Dil Lagane Chale,
Patthar Se Dil Ko Hum Piglane Chale,
Toot Kar Bikhar Gaye Hum Tukdo Main,
Pattharo Ke Shehar Main Kaanch Ka Ashiyana Jo Banane Chale.

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on Tumblr

Email This To Friends


पिता पतंग उड़ा रहा था

father-son-teen-flying-kite

पिता पतंग उड़ा रहा था बेटा ध्यान से देख रहा था थोड़ी देर बाद बेटा बोला पापा ये धागे की वजह से पतंग और ऊपर नहीं जा पा रही है इसे तोड़ दो पिता ने धागा तोड़ दिया पतंग थोडा सा और ऊपर गई और उसके बाद नीचे आ गई तब पिता ने बेटे को समझाया बेटा जिंदगी में हम जिस उचाई पर है, हमें अक्सर लगता है , की कई चीजे हमें और ऊपर जाने से रोक रही है, जैसे घर, परिवार, अनुशासन, दोस्ती, और हम उनसे आजाद होना चाहते है, मगर यही वो चीज होती है जो हमें उस उचाई पर बना के रखती है. उन चीजो के बिना हम एक बार तो ऊपर जायेंगे मगर बाद में हमारा वो ही हश्र होगा, जो पतंग का हुआ. इसलिए जिंदगी में कभी भी अनुशासन का, घर का , परिवार का, दोस्तों का, रिश्ता कभी मत तोड़ना !

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on Tumblr

Email This To Friends


।।जीना ही देर से शुरू करते है।।

storm-road-lovesove

।।जीना ही देर से शुरू करते है।।
एक बार एक लड़की कार चला रही थी और पास में उसके पिताजी बैठे थे. राह में एक भयंकर तूफ़ान आया और लड़की ने पिता से पूछा — अब हम क्या करें? पिता ने जवाब दिया — कार चलाते रहो. तूफ़ान में कार चलाना बहुत ही मुश्किल हो रहा था, तूफ़ान और भयंकर होता जा रहा था. अब मैं क्या करू ? — लड़की ने पुनः पूछा. कार चलाते रहो. — पिता ने पुनः कहा. थोड़ा आगे जाने पर लड़की ने देखा की राह में कई वाहन तूफ़ान की वजह से रुके हुए थे…… उसने फिर अपने पिता से कहा — मुझे कार रोक देनी चाहिए…….मैं मुश्किल से देख पा रही हूँ……. यह भयंकर है और प्रत्येक ने अपना वाहन रोक दिया है……. उसके पिता ने फिर निर्देशित किया — कार रोकना नहीं. बस चलाते रहो…. तूफ़ान ने बहुत ही भयंकर रूप धारण कर लिया था किन्तु लड़की ने कार चलाना नहीं छोड़ा………. और अचानक ही उसने देखा कि कुछ साफ़ दिखने लगा है……… कुछ किलो मीटर आगे जाने के पश्चात लड़की ने देखा कि तूफ़ान थम गया और सूर्य निकल आया…… अब उसके पिता ने कहा — अब तुम कार रोक सकती हो और बाहर आ सकती हो…….. लड़की ने पूछा — पर अब क्यों? पिता ने कहा — जब तुम बाहर आओगी तो देखोगी कि जो राह में रुक गए थे, वे अभी भी तूफ़ान में फंसे हुए हैं…… चूँकि तुमने कार चलाने का प्रयत्न नहीं छोड़ा, तुम तूफ़ान के बाहर हो…… यह किस्सा उन लोगों के लिए एक प्रमाण है जो कठिन समय से गुजर रहे हैं……… मजबूत से मजबूत इंसान भी प्रयास छोड़ देते हैं……..किन्तु प्रयास कभी भी छोड़ना नहीं चाहिए……. निश्चित ही जिन्दगी का कठिन समय गुजर जायेंगे और सुबह के सूर्य की भांति चमक आपके जीवन में पुनः आयेगी…….!!!!!
ऐसा नहीं है की जिंदगी बहुत छोटी है। दरअसल हम जीना ही बहुत देर से शुरू करते हैं।

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on Tumblr

Email This To Friends


A girl was calling for help(A True Incident )

alone-girl-sad-image-black-white-lovesove

एक सच्ची घटना { शेयर जरुर करे }
रोहित ,प्रभात और चिराग कोचिंग से लौट रहे थे .
प्रभात की नज़र तभी सुनसान पड़ें खाली प्लॉट में चार
लड़कों से घिरी मदद के लिए पुकारती लड़की पर गयी .
प्रभात ने अपना बैग कंधें से उतार कर सड़क पर फेंका और
”मेरी बहन को छोड़ दो कमीनों ” कहता हुआ
उसी दिशा में दौड़ पड़ा .
रोहित और चिराग प्रभात की बात सुनकर अपना बैग
वहीँ फेंककर उसके पीछे दौड़ पड़े .
तीन लड़कों को गुस्से में दौड़कर अपनी ओर आते देख वे
चारों लडकें लड़की को छोड़कर भाग लिए .
उनमे से केवल एक ही को प्रभात पकड़ पाया और फिर
वही पहुंचे रोहित व् चिराग ने उसकी जमकर लातों -
घूसों से खातिरदारी कर दी .
वो भी किसी तरह खुद को छुड़ाकर भाग निकला .
प्रभात को उस पीड़ित लड़की से उसका नाम-पता पूछते
देखकर चिराग ने प्रभात से पूछा -”तू तो ये कहकर
भागा था मेरी बहन को छोड़ दो …
ये तेरी बहन नहीं है …
यूँ ही अपने साथ हमारी जान भी दांव पर लगा दी!!”
प्रभात मुस्कुराता हुआ बोला -” मैं ऐसा न
करता तो तुम बहाना बनाकर निकल लेते और हम
भाइयों के होते एक बहन की अस्मत लुट चुकी होती .”
रोहित प्रभात की बात सुन मुस्कुराता हुआ बोला -
” कुछ भी कहो ..मुझे भगवान ने कोई बहन
नहीं दी थी आज प्रभात के कारण एक बहन मिल गयी .”
रोहित की बात सुनकर प्रभात ने उसे गले
लगा लिया और पीड़ित लड़की की आँखे भर आई ….
दोस्तो अगर आपके सामने भी ऐसा कुछ
हो तो इन्सानियत के नाते आपका फर्ज बनता है
कि आप लडकियोँ की जरूर मदद करेँ..
क्योकि हमारी अपनी भी बहनो के साथ मेँ
ऐसा हो सकता है..
Plz share this post..

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on Tumblr

Email This To Friends


1 2 3 4 5 6 7 8 9 ... 2069 »
Top Categories: Suvichars | Sher-o-Shayari | Emotional Messages | Friendship Cards | Love Messages | Love StoriesTouching Stories | Shayari Wallpapers | Dosti Shayari | Miss You Cards | Inspirational Cards | FB Cover | Good Morning Wallpapers | Good Night Wallpapers | HD Wallpapers | More Categories

Advertisement